Wednesday, October 03, 2007

सवाल

ख़बरों में रहकर भी

खुद से बेख़बर क्यों हूँ मैं?


अमित जोगी
देवभोग, .१०.२००७

6 comments (टिप्पणी):

Remmish Gupta said...

Bhaiya,

any specific reason for this inner feeling (question)?

Rgrds,
Remmish Gupta

Sanjeet Tripathi said...

बहुत खूब!!

निश्चित तौर पर कह सकता हूं कि इस सवाल का जवाब आप अपने आप को ही नही दे पाएंगे, ढूंढे नही मिलेगा जवाब!!

अक्सर जो खबरों मे रहा करते हैं वे खुद से बेखबर नही होते, वे खुद से तो क्या किसी से भी, किसी भी मुद्दे से बेखबर नही रहा करते। लेकिन जाहिराना अंदाज़ यही होता है कि बेखबरी का आलम है!!

जो खुद खबर हों वे भला कैसे गाफ़िल हो सकते हैं पर कभी कभी यह खुद से बेखबरी का आलम अपने आप पर हावी हो ही जाता है, एक ऊब सी महसूस होने लगती हैं क्योंकि दिल भी आखिर व्यक्तिगत स्वतंत्रता चाहता ही है।

amit tiwari said...

The eternal irony of eyes - it sees the world, never to see itself.

Anonymous said...

aapko jarurat hai kis aise inasan ki jo aapko aapse rubaru karaey :)

Atul said...

Bhaiya why do u think so ki aap khud se bekhabar hain?

Anonymous said...

jai mata di,

( khabaron men rahkar bhi ,
khud se bekhabar kyon hoon mai),

mainen dekha hai ek khwab,
usme hain aap,
nikala tha ghar se main akela ,
log milte gaye aur kawaran banata
gaya .

Ek garib ki shubhkamanon ke sath
aapka
Venu vyanketshwar dongre
Deobhog,Raipur(c.g.)

get the latest posts in your email. ताज़े पोस्ट अब अपने ई-मेल पर सीधे पढ़ें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

DISCLAIMER. आवश्यक सूचना

1. No part of this Blog shall be published and/or transmitted, wholly or in part, without the prior permission of the author, and/or without duly recognizing him as such. (१. इस ब्लॉग का कोई भी भाग, पूरा या अधूरा, बिना लेखक की पूर्व सहमति के, किसी भी प्रकार से प्रसारित या प्रकाशित नहीं किया जा सकता.)
2. This Blog subscribes to a Zero Censorship Policy: no comment on this Blog shall be deleted under any circumstances by the author. (२. ये ब्लॉग जीरो सेंसरशिप की नीति में आस्था रखता है: किसी भी परिस्थिति में कोई भी टिप्पणी/राय ब्लॉग से लेखक द्वारा हटाई नहीं जायेगी.)
3. The views appearing on this Blog are the author's own, and do not reflect, in any manner, the views of those associated with him. (३. इस ब्लॉग पर दर्शित नज़रिया लेखक का ख़ुद का है, और किसी भी प्रकार से, उस से सम्बंधित व्यक्तियों या संस्थाओं के नज़रिए को नहीं दर्शाता है.)

CONTACT ME. मुझसे संपर्क करें

Amit Aishwarya Jogi
Anugrah, Civil Lines
Raipur- 492001
Chhattisgarh, INDIA
Telephone/ Fascimile: +91 771 4068703
Mobile: +91 942420 2648 (AMIT)
email: amitaishwaryajogi@gmail.com
Skype: jogi.amit
Yahoo!: amitjogi2001